Saturday, February 23, 2013

आसमान क्या नहीं हमारा?

23.02.2013, 09:14
यह सवाल पूछती हैं वे महिला पायलट......
यह सवाल पूछती हैं वे महिला पायलट जिन्हें लेकर रूस में पहली महिला हेलीकाप्टर स्क्वैड्रन बनी है| संसार की सबसे नन्ही चिड़िया के नाम पर इसका नाम रखा गया है: ‘कोलिब्री’| इसमें पांच महिला पायलट हैं| इनके हुनर की बात करें तो इनका मुकाबला कर पाने वाले पुरुष भी कम ही होंगे|
तो इस पहली महिला स्क्वैड्रन के प्रति रूस में रवैया खास है| ‘रूसी हेलीकाप्टर प्रणालियाँ’ और ‘रूसी हेलीकाप्टर’ नाम की दो कंपनियों ने मिलकर यह पायलट ग्रुप बनाया है| इस टीम में कौन क्यों शामिल हुआ है इसके बारे में ‘रूसी हेलीकाप्टर प्रणालियाँ’ कंपनी के प्रेस सचिव आज़ाद कर्रीयेव बताते हैं|

“इस टीम में रूस के आपाद-नियंत्रण मंत्रालय की नामी पायलट येकातेरीना ओरेश्नीकोवा और हेलीकाप्टर स्पोर्ट की चैम्पियन येव्गेनिया कुर्पिका जैसी पायलट तथा हमारे शिक्षा केन्द्र की छात्राएं भी हैं| आम तौर पर यह माना जाता है कि उड्डयन का काम पुरुषों का ही है| बेशक पायलट बनने के लिए बहुत कठोर ट्रेनिंग की ज़रूरत होती है| लेकिन दूसरी ओर देखा जाए तो अब हेलीकाप्टर एक ऐसा परिवहन साधन बन रहे हैं जो बहुतों की पहुँच में हैं| कोलिब्री स्क्वैड्रन बनाने का मकसद हेलीकाप्टरों की और हेलीकाप्टर स्पोर्ट की लोकप्रियता बढ़ाना है|”

कर्रीयेव का कहना है कि जैसे ही यह खबर फैली कि महिला पायलट टीम बनाई जा रही है तो हेलीकाप्टर चलाना सीखने की इच्छुक युवतियों की ढेरों अर्जियां आईं| येकातेरीना ओरेश्नीकोवा ने, जो आपात-नियंत्रण मंत्रालय में एकमात्र महिला पायलट हैं, रेडियो रूस से बातचीत करते हुए कहा:

“ मेरे लिए तो हेलीकाप्टर मेरा पेशा, मेरा भाग्य, मेरा सब कुछ है| मैं यह मानती हूं कि किसी भी पेशे के बारे में यह नहीं कहा जाना चाहिए कि यह मर्दों का या यह औरतों का पेशा है| जिस काम में इंसान को दिलचस्पी हो, जिसे करके उसे संतोष मिले, वह महसूस करे कि उसकी यहाँ ज़रूरत है, बस वही उसका पेशा है| इसलिए मैं यह मानती हूं कि आपात-नियंत्रण सेवा में काम महिलाओं का भी काम है| खेदवश इन दिनों उड्डयन के क्षेत्र में महिलाएं बहुत कम हैं| हालांकि हमारे देश में एक ज़माना ऐसा भी था जब महिला पायलटों की कमी नहीं थी और उन्होंने उड्डयन के विकास में खासी महती भूमिका अदा की थी| सो यह अच्छी बात है कि हम उस परम्परा की ओर लौट रहे हैं|”

कोलिब्री पायलट टीम की आधिकारिक प्रस्तुति 8 मार्च को होगी, उस दिन जब रूस में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस बड़े चाव से मनाया जाता है| इस दिन पहली महिला टीम ‘कोलिब्री’ को बधाई देगा रूसी वायुसेना का बेजोड़ हेलीकाप्टर पायलट दल ‘बेर्कुत’ (बाज) जो लड़ाकू हेलीकाप्टरों पर हवाई कलाबाजियों के करतब दिखाने वाला एकमात्र दल है|  
 Photo: RIA Novosti

No comments:

Post a Comment